सदस्यता विवाद «