संवद्र्धन आवश्यक «