चेतनशील मल्टिपर्पाेज «